पिता और तीन महीने की बच्ची की मौत | कमरा बंद करके सो रहे थे और हीटर ऑन था।

Noida: यह घटना Noida के Sector-63 इलाके की है, जहां पड़ोसियों ने सुबह एक बेहोश परिवार को देखा और उन्हें पास के निजी अस्पताल में ले गए। हीटर से मरने का कारण क्या था? पुलिस ने क्या कह दिया?

नोएडा (Noida) में 35 वर्षीय एक व्यक्ति और उसकी तीन महीने की बेटी की मौत हो गई। पुलिस ने कहा कि दोनों की मौत दम घुटने से हुई। रात में गैस रूम हीटर को ऑन करके सो गए। हीटर की जहरीली गैस इन्हेल करने से शायद वे मर गए। परिवारों में से एक गंभीर रूप से बीमार है और अस्पताल में भर्ती है।

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, ये घटना छिजारसी इलाके में सेक्टर-63 थाना क्षेत्र में हुई है। मृतक सम्मू खान बताया गया है। वह उत्तर प्रदेश के पीलीभीत में रहता था। नोएडा में अपनी पत्नी उजमा और बच्ची के साथ एक किराए के कमरे में रह रहा था। उसने दर्जी का काम किया था।

खबर है कि परिवार ने कमरे में LPG वाले हीटर का उपयोग किया। पुलिस ने बताया कि वे 25 जनवरी की रात को हीटर जलाकर सो गए। पड़ोसियों ने अगली सुबह उन्हें बेहोश हालत में देखा और उन्हें पास के निजी अस्पताल में भर्ती कराया। वहां डॉक्टरों ने सम्मू और बच्ची को मृत बताया। Ujja अभी भी SJM अस्पताल में है। डॉक्टरों ने कहा कि उनका स्वास्थ्य गंभीर है और वे वेंटिलेटर पर हैं।

26 जनवरी को सुबह लगभग 9 बजे अस्पताल ने ही घटना की सूचना पुलिस को दी। शुरूआती जांच से पता चला कि गैस रूम हीटर का इस्तेमाल घटना का कारण था। शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। पुलिस जारी है।

ध्यान दें कि गैस वाले हीटरों से निकलने वाली कार्बन मोनोऑक्साइड गैस है। और चलते कमरे में लोगों के दम घुटने का खतरा कम होता है अगर हीटर वाला कमरा बंद होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *